Leading Hindi News Portal from Central India
विदेश

अमेरिका में चीन की नो एंट्री, विमानों की एंट्री को रेड सिग्नल

वाशिंगटन। कोरोना को लेकर बने मौजूदा हालातों के बाद अमेरिका और चीन के बीच तनाव बढ़ रहा है । दोनों देशों में व्यापार और ट्रेवल पर इसका असर भी दिखाई देने लगा है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को बड़ा फैसला लेते हुए चाइना एयरलाइंस के पैसेंजर विमानों को अमेरिका में जाने पर नो एंट्री कर दी है। अमेरिका के ट्रांसपोर्टेशन विभाग ने कहा है की 16 जून से नया आदेश लागू होगा। अमेरिका ने इसके लिए चाइना सरकार को जिम्मेदार बताया है ।

चीन भी उठा चुका है पहले कदम

दरअसल चीन भी इस हफ्ते अमेरिका की यूनाइटेड एयरलाइंस और डेल्टा एयरलाइंस की फ्लाइट को इजाजत देने पर ब्रेक लगा चुका है। कोरोनावायरस की आहट के साथ ही इन्हें बंद कर दिया गया था और अब इन्हें दोबारा शुरू करने की तैयारी हो रही थी । लेकिन अब अमेरिका के फैसले के बाद चीन की एयर चाइना, चाइना ईस्टर एयरलाइंस, चाइना दक्षिण एयरलाइंस और हेनान एयरलाइंस होल्डिंग को अमेरिका ने रेड सिग्नल जारी कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक डोनाल्ड ट्रंप का आदेश 16 जून से प्रभावी हो जाएगा। अमेरिका के फैसले से चाइना की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ेगा। पहले ही व्यापार को लेकर अमेरिका और चीन के बीच तनातनी तेज है। ऐसे में अमेरिका के नए फैसले के बाद दोनों देशों के संबंधों में खटास और बढ़ने के आसार हैं। भारत जैसे देश भी अमेरिका के बाद इस तरीके के कोई कदम पर विचार कर सकते हैं।

03 June, 2020
Share |