Leading Hindi News Portal from Central India
भोपाल

शिवराज सरकार किसानों से लेगी कृषि कार्यक्रमों का फीडबैक


भोपाल। किसानों के मुद्दे पर विपक्ष के साथ अपनों के निशाने पर आई शिवराज सरकार अब किसानों की नाराजगी दूर करने की तैयारी में है। सीएम शिवराज अब खुद सीधे किसानों से संवाद कर कृषि कार्यक्रमों की जानकारी लेंगे और इसके बाद खेती और किसानी को लेकर नये फैसले करेंगे।इसके संकेत आज सीएम ने मंत्रालय में समाधान ऑनलाइन कार्यक्रम में कलेक्टरों को संबोधित करते हुए कहीं।
सीएम ने कहा है कि सूखा प्रभावित क्षेत्रों में मनरेगा के तहत पर्याप्त कार्यक्रम चलाए जायें, पेयजल पाइपलाइन के लिये यदि कोई एजेन्सी सड़क खोदती है, तो उसी एजेन्सी से पहले जैसी ही सड़क बनवायें। निर्माणाधीन प्याज के भंडारण गोदामों का कार्य आगामी अप्रैल माह तक पूर्ण करायें। अब किसानों द्वारा भावांतर भुगतान योजना में अनाज का भंडारण करने पर राज्य सरकार भंडारण करने वाली संस्थाओं को सीधे भुगतान करेगी। गर्मियों में पेयजल आपूर्ति के लिये अभी से व्यवस्थित योजना बनायें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी 12 फरवरी को भोपाल में किसान सम्मेलन आयोजित किया जायेगा। इस सम्मेलन में किसानों से संवाद कर विभिन्न कृषि कार्यक्रमों के बारे में फीडबैक लिया जायेगा और भावांतर भुगतान की राशि वितरित की जायेगी। उन्होंने कहा कि रबी के उपार्जन का पंजीयन समय से शुरू करें। पेंशन प्रकरण के निराकरण के लिये सभी जिलों में गंभीरता से प्रयास किये जायें।

07 February, 2018
Share |