Leading Hindi News Portal from Central India
देश

मोदी या राहुल की गुजरात! नतीजों के लिए चंद घंटो का और इंतजार


नई दिल्ली। गुजरात चुनाव के नतीजों का ऊंट किस करवट बैठेगा इसको लेकर बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं की धड़कनें तेज है, तो पूरे देश की नजरें इन चुनाव के नतीजों पर टिकी है। हालांकि गुजरात के साथ ही हिमाचल प्रदेश के नतीजे भी सोलह दिसंबर को आएंगे। लेकिन सबकी नजरें गुजरात के नतीजों पर टिकी है, क्योंकि यहां मुकाबला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी के बीच में है। गुजरात की जनता किस पर भरोसा जताती है इसके लिए चंद घंटों का इंतजार बाकी है। लेकिन एग्जिट पोल में गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा के जीत की रिपोर्ट के बाद चुनावी नतीजे अहम होंगे। हालांकि हार-जीत के बीच नजरें इस बात पर भी टिकी है कि क्या वाकई में बीजेपी राज्य में अगली सरकार बनाने के लिए पर्याप्त सीटें जीतेगी, या फिर कांग्रेस बहुमत के आंकड़े के करीब पहुंचेगी।
हार-जीत को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है और चुनावी नतीजों से पहले सर्वे एजेंसियों के साथ ही आम लग भी अपना आकलन लगाने में कोर-कसर नहीं छोड़ रहे है। लोगों के जहन में सवाल कई है, जिसमें क्या भाजपा सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर काम करेगी। बीजेपी के खिलाफ नकरात्मक भावना क्या भाजपा को बड़ा नुकसान पहुंचाएगी। विकास का मुद्दा गुजरातियों को कितना असर करता है। ये वो सवाल है जो कि चुनावी नतीजों में भाजपा के भविष्य पर असर डालेंगे, तो कांग्रेस को लेकर भी सवाल कई है। जिसमें सबसे बड़ा सवाल राहुल गांधी के सादगी से जुड़ा है जो कि इस बार गुजरात चुनाव के प्रचार के दौरान दिखाई दिया है। इसका असर कितना होता है और विकास के मुद्दे पर भाजपा पर लगातार होने वाले हमले और पाटीदारों के आरक्षण का मामला कितान कांग्रेस को फायदा देगा। इसके लिए अब थोड़ा इंतजार करना होगा। आपको बता दें कि गुजरात और हिमाचल प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे सोमवार को आएंगे और माना जा रहा है कि गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे आगामी चुनावों की तस्वीर तय करेंगे।

17 December, 2017
Share |