Leading Hindi News Portal from Central India
विदेश

अमेरिका के लिए ‘कब्रगाह’ बन जाएगा अफगानिस्तान - तालिबान

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा हजारों अमेरिकी सैनिकों को युद्ध प्रभावित अफगानिस्तान में भेजने का रास्ता साफ किए जाने के बाद तालिबान ने चेतावनी दी है कि अफगानिस्तान अमेरिका के लिए ‘‘एक कब्रगाह’’ बन जाएगा। अफगानिस्तान में तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने एक बयान में कहा, ‘‘यदि अमेरिका अफगानिस्तान से अपने सैनिक नहीं हटाता है तो जल्दी ही 21वीं सदी की इस महाशक्ति के लिए अफगानिस्तान एक अन्य कब्रगाह बन जाएगा।’’ उसने कहा कि अमेरिका को ‘‘युद्ध जारी रखने के बजाय’’ अफगानिस्तान से निकलने की रणनीति के बारे में सोचना चाहिए।
मुजाहिद ने कहा, ‘‘जब तक अमेरिका का एक भी सैनिक हमारी धरती पर है, और जब तक वे हमपर युद्ध थोपना जारी रखते हैं, तब तक हम पूरे मनोबल के साथ अपना जिहाद जारी रखेंगे।’’ सोमवार को कमांडर-इन-चीफ के तौर पर देश को दिए अपने पहले औपचारिक संबोधन में ट्रंप अमेरिका के सबसे लंबे युद्ध को खत्म करने के अपने वादे से पीछे हट गए। हालांकि उन्होंने इसपर विशेष जानकारी नहीं दी। उन्होंने कहा कि वह इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि ‘‘त्वरित निकासी अस्वीकार्य और पूर्वानुमान लायक है।’’ इससे एक ऐसा शून्य पैदा हो जाएगा, जिसे आतंकी ‘‘तुरंत भर देंगे।’’ ट्रंप ने सैनिकों की संख्या के बारे में विस्तार से बताने से मना कर दिया लेकिन व्हाइटहाउस के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने अपने रक्षामंत्री को 3900 तक और सैनिक तैनात करने का अधिकार दे दिया है।

22 August, 2017
Share |