Leading Hindi News Portal from Central India
ग्वालियर

तेज गति से स्कूल बस चलाने पर अब स्कूल संचालक होंगे दोषी – कलेक्टर

ग्वालियर | शहर में स्कूल बस चालक द्वारा तेज गति से स्कूल बस चलाने पर अब चालक के खिलाफ आईपीसी की धाराओं के तहत सीधे कार्रवाई होगी। स्कूल बस दुर्घटना होने पर स्कूल संचालक को भी दोषी ठहराया जायेगा। उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। यह निर्देश कलेक्टर डॉ. संजय गोयल ने शनिवार को कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित स्कूल संचालकों एवं बस ऑपरेटरों की बैठक में दिए। बैठक का आयोजन स्कूल बसों से हो रहीं दुर्घटनाओं की रोकथाम तथा स्कूली बच्चों को पूरी तरह सुरक्षित स्कूल लाना तथा स्कूल से उनके घर तक पहुँचाने के मकसद से किया गया। बैठक में पुलिस अधीक्षक डॉ. आशीष, एडीएम शिवराज वर्मा, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी चौहान सहित स्कूल संचालक एवं बस ऑपरेटर्स उपस्थित थे। बैठक को संबोधित करते हुए कलेक्टर डॉ. संजय गोयल ने कहा कि स्कूल वाहन की अधिकतम गति सीमा 40 किलोमीटर प्रति घण्टा से अधिक नहीं होना चाहिए। वाहन में स्पीड गवर्नर भी लगा होना चाहिए। कलेक्टर ने कहा कि अभी तक जो भी घटनायें हुई हैं, बस चालकों की लापरवाही, उनके द्वारा तेज गति से बस चलाने के कारण हुई हैं। कलेक्टर ने कहा कि अब चालकों के खिलाफ चालान नहीं सीधे आईपीसी की धाराओं के तहत कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि स्कूली बसों से हो रहीं दुर्घटनाओं से स्कूल संचालक भी अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकते हैं वे भी उतने ही दोषी ठहराये जायेंगे, जितना उनकी बस का चालक है। उन्होंने स्कूल संचालकों को हिदायत दी कि वे अपने बस चालकों को सुरक्षित बस सेवा करने का प्रशिक्षण दें। बसों पर ऐसे बस चालकों को ही रखें जो पूरी तरह से अनुभवी हों। उसका आपराधिक रिकॉर्ड न हो। चालक को रखने से पहले उसका पुलिस वैरीफिकेशन करायें। वह यातायात नियमों का पालन करने वाला हो। कलेक्टर ने स्कूल संचालकों से यह भी कहा कि वे बस के साथ स्कूल के अनुभवी स्टाफ को भी तैनात करें।

04 March, 2017
Share |