Leading Hindi News Portal from Central India
ग्वालियर

ओला-प्रभावित फसलों का होगा शत-प्रतिशत सर्वे-शिवराज


ग्वालियर। बीते एक महीने में शीतलहर और ओले की मार से बेहाल किसानों को मदद देने में राज्य सरकार कोई कमी नहीं छोड़गी, ये कहना है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का..सीएम ने कहा है कि चंबल संभाग के भिण्ड, मुरैना और श्योपुरवासियों के विकास की जीवन-रेखा को जोड़ने के लिए चंबल एक्सप्रेस-वे बनाने का निर्णय प्रदेश सरकार ने लिया है। इस एक्सप्रेस-वे के बन जाने से चंबल क्षेत्र के बीहड़ में उद्योग सहित अन्य विकास आसानी से हो सकेंगे। एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश एवं राजस्थान को जोडे़गा। सीएम ने कहा कि ओला-प्रभावित फसलों का शत-प्रतिशत सर्वे करवाकर राहत राशि उपलब्ध करवायी जायेगी। मुख्यमंत्री आज भिण्ड जिले के गिरगाँव में किसानों को संबोधित कर रहे थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मुरैना, ग्वालियर, दतिया, शिवपुरी की भी फसलें प्रभावित हुई हैं। इन क्षेत्रों में भी सर्वे करवाकर किसानों को पूरी राहत दी जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन किसानों ने अपनी फसल का बीमा करवाया है, उन्हें 25 प्रतिशत राशि प्राथमिक आकलन के बाद दिलवाई जाएगी, बाद में पूरा भुगतान करवाया जाएगा। सरकार इसकी खुद मॉनीटरिंग करेगी। जिन किसानों ने फसल का बीमा नहीं करवाया है, उनकी भरपाई सरकार खुद कराएगी। जिन किसानों की फसलों का नुकसान 50 प्रतिशत से ज्यादा हुआ है, उनकी बेटियों के विवाह के लिए सरकार 25 हजार रुपए की आर्थिक सहायता मुहैया करवाएगी। साथ ही ओला प्रभावित किसानों की कर्ज वसूली स्थगित की जाएगी। कर्ज का ब्याज सरकार भरेगी। किसानों को आगामी फसलों के लिए जीरो प्रतिशत ब्याज पर खाद-बीज के लिये ऋण उपलब्ध करवाया जायेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ओला एवं बेमौसम बारिश से उत्पन्न संकट की इस घड़ी में सरकार किसानों के साथ खड़ी है। फसलों की क्षति का तत्परता से आकलन करवाया जा रहा है। किसानों को शीघ्र ही राहत मुहैया करवाई जाएगी। उन्होंने जिला प्रशासन को हिदायत देते हुए कहा कि पूरी ईमानदारी और संवेदनशीलता के साथ फसलों का सर्वेक्षण करवाया जाए। क्षति के आकलन के बाद प्रभावित किसानों की सूची ग्राम पंचायत पर चस्पा की जाएगी। अगर किसानों को कोई आपत्ति हो तो वे पुनः अपने खेत का सर्वे भी करवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि भिण्ड जिले के 73 गाँव ओला से प्रभावित हुए हैं।

05 February, 2017
Share |