Leading Hindi News Portal from Central India
ग्वालियर

मौसम की थर्ड़ डिग्री मार,सर्दी के सितम से बेहाल प्रदेश

 ग्वालियर। मध्यप्रदेश में बीते कुछ दिनों से मौसम ने थर्ड डिग्री की मार तेज कर दी है। आलम ये है कि गर्म कपड़ों में सिमटे लोग सर्द हवा के कहीं से दाखिल होने से परेशान है। अलाव जलाने के बाद भी लोगों को राहत नहीं मिल पा रही है। सुबह और शआम ढलने के बाद सड़कों पर लोगों की संख्या कम हो जा रही है। वहीं लोगों के पास घर में गर्म कपड़ों और रजाई में के अंदर दुबके रहने के अलावा कोई चारा नहीं बचा है? बीते कुछ दिनों पड़ रही कड़ाके की ठंड के प्रकोप से लोगों अब परेशान है। शनिवार को तापमान में और भी गिरावट दर्ज हुई है। महाकोशल और विंध्य क्षेत्र के ज्यादातर जिले कंपकंपी के चपेट में है। वहीं हिल स्टेशन अमरकंटक और मंडला जिले के कान्हा क्षेत्र में पारा 0 डिग्री पर लुढ़क गया है। जबकि दमोह जिले में 0.2 और डिंडौरी में 1 डिग्री न्यूनतम तापमान रहा। शीतलहर के कारण लोगों को दिन में भी राहत नहीं मिल पा रही है। वहीं दूसरी ओर फसलों की बात करें तो फिलहाल फसलों को ज्यादा नुकसान नहीं है, लेकिन कुछ दिन और ऐसा ही मौसम बना रहा तो पाला लग सकता है। हालांकि हवा का रुख बदलने से प्रदेश के कुछ स्थानों पर ठंड से मामूली राहत मिली है। इसके तहत रात-दिन के तापमान में कुछ इजाफा हुआ है। मौसम विज्ञानियों ने दो दिन तक सर्दी से कुछ राहत मिलने के आसार जताए है,लेकिन इसके बाद ठंड का सितम फिर शुरू हो सकता है। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक ग्वालियर,चंबल संभाग में भी लोगों को सर्दी से कुछ राहत मिली है। लेकिन सागर संभाग में ठंड का कहर जारी है। अगले 24 घंटे के दौरान दमोह,बैतूल मे तीव्र शीतलहर की चेतावनी जारी की गई है। साथ ही जबलपुर, शहडोल, रीवा, सागर संभाग में शीतलहर चलेगी। वहीं एक पश्चिमी विक्षोभ के पास होने से मौसम के मिजाज में बदलाव आना शुरू होगा। इसके तहत वातावरण में नमी बढ़ेगी। इससे रविवार शाम से आसमान पर आंशिक बादल छाने की उम्मीद है।

14 January, 2017
Share |