Leading Hindi News Portal from Central India
ग्वालियर

खेतों में कीटनाशक बन रहा राष्ट्रीय पक्षि की मौत का कारण


प्रदेश में राष्ट्रीय पक्षी मोर अब खेतों में डल रहे अंधाधुंध कीटनाशक का शिकार हो रहे है। खेतों में कीटनाशक का इस्तेमाल और उसके बारिश के पानी मं घुलकर बह रहा है और ऐसा पानी पीने से मोर की मृत्यु हो रही है। गेहूँ, ज्वार, बाजरा आदि अनाज के साथ भी कुछ कीटनाशकों का प्रयोग मोरों के लिये खतरनाक साबित हो रहा है। अशोकनगर जिले में बीते दिनों गेहूँ खाने से 24 और पेटलावद में 4 मोर की मृत्यु हुई है। । पोस्टमार्टम में सभी मोरों के पेट से मटमैले रंग के गेहूँ के दाने मिले हैं। घटना स्थल से सभी मटमैले गेहूँ के दानों को साफ कर जमीन में दबा दिया गया है।
वहीं मोरों की मौत की खबरों के बाद वन विभाग भी हरकत में है। किसानों को समझाईश दी जा रही है। गाँवों को मोरों पर सतत निगरानी रखने और तत्काल सूचना देने को कहा गया है।

23 July, 2016
Share |